नोबेल विजेता कैलाश सत्यार्थी के बारे में 10 बातें…

58_1412935991-0029

भारत के कैलाश सत्यार्थी और पाकिस्तान की मलाला यूसुफजयी को शुक्रवार को 2014 के लिए शांति का नोबेल पुरस्कार संयुक्त रूप से देने की घोषणा की गई। दोनों को यह पुरस्कार उपमहाद्वीप में बाल अधिकारों को प्रोत्साहित करने के उनके कार्य के लिए प्रदान किया जाएगा। कैलाश सत्यार्थी के बारे में 10 बातें.कैलाश सत्यार्थी का […]

Read more

कभी सबको सलाम ठोंकने वाला चौकीदार बन गया कलेक्टर

893_chokidar-ias

भौतिक सुख-सुविधाओं के हम आदी हो चुके हैं. और इसी ने हमें आलसी बना दिया है. निजी कंपनी में नौकरी करने वाले लोग अक्सर यह कहते हुए पाए जाते हैं कि यार कंपनी बहुत काम लेती है. 9 घंटे की नौकरी…… 10 घंटे की नौकरी…. सारा समय ऑफिस में निकल जाता है……. ……ब्ला…ब्ला. पर इस […]

Read more

राजस्थान – सरपंच और शिक्षा

402_RJJJJJJJJJJJJJJJJJ

राजस्थान के पंचायती राज विभाग ने एक प्रस्ताव बनाकर सरकार को भेजा है जिसमें उनकी मंशा इस बार होने वाले पंचायती चुनावों में अशिक्षित लोगों को चुनाव लड़ने से रोकने की है. यदि प्राथमिक तौर पर देखा जाये तो इस तरह के प्रस्ताव में कोई अनुचित बात नहीं पर वर्षों से गांवों की राजनीति में […]

Read more

कूड़ा बीनते बच्चों के लिए व्यावहारिकता अपनाने की आवश्यकता है

653_bachcha-k1-150x150

  सड़क किनारे कू ड़ा-करकट, खाली बोतलें, पॉलीथीन, रैपर आदि समेटते बच्चे किसी एक शहर में नहीं वरन लगभग सभी शहरों में मिल जायेंगे. बच्चों का कूड़ा बीनने के साथ-साथ भीख माँगने में, अनेक जगहों पर काम करने में लगा देखा जा सकता है. ये समस्या आज़ादी के बाद से ही एक प्रमुख समस्या के […]

Read more

बेटियों के लिए हम बनें जागरूक

812_index

इंसानी कदम आधुनिकता के साथ अंतरिक्ष की ओर बढ़ते जा रहे हैं किन्तु ‘कन्या भ्रूण हत्या’ जैसा कृत्य उसको आदिमानव सिद्ध करने में लगा है। समाज में बच्चियों की गिरती संख्या से अनेक तरह के संकट, अनेक विषमताओं के उत्पन्न होने का संकट बन गया है। विवाह योग्य लड़कियों का कम मिलना, महिलाओं की खरीद-फरोख्त, […]

Read more

समझाना और समझना

747_images

कभी मैंने उसे न समझा कभी उसने मुझे न जाना और हो गई गलत फहमियां एक रास्ते के थे हमसफर हम मंजिलें भी हो गई जुदा-जुदा न मालूम मैंने क्या समझाया न जाने उसने क्या समझा समझने- समझाने के फेर में समझ- समझ का फर्क आ गया समझते – समझते आ गई मुझ में समझ […]

Read more

सूर्य नमस्कार के 12 चरण और उनके लाभ जानिए

42_1413010455-6954

सूर्य नमस्कार के द्वारा त्वचा रोग समाप्त हो जाते हैं अथवा इनके होने की संभावना समाप्त हो जाती है। इस अभ्यास से कब्ज आदि उदर रोग समाप्त हो जाते हैं और पाचन तंत्र की क्रियाशीलता में वृद्धि हो जाती है। इस अभ्यास के द्वारा हमारे शरीर की छोटी-बड़ी सभी नस-नाडि़यां क्रियाशील हो जाती हैं, इसलिए […]

Read more

सम्मान के साथ हो कश्मीरी पंडितों की घर वापसी: महबूबा

852_1413169451-8033

जम्मू। पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने विस्थापित कश्मीरी पंडितों की घाटी में ‘सम्मान और गरिमा’ के साथ वापसी की इच्छा जाहिर की। हालांकि ऐसे खोखले वादे वहां की पार्टियां करती रही है। महबूबा ने रविवार को कश्मीरी पंडित समुदाय के विस्थापित सदस्यों के साथ यहां हुई एक बैठक को संबोधित करते हुए […]

Read more

आखिरी सच

39_FLAG

शहर में गूंजे बस झूठ ही झूठ, अब तो ये सारा जमाना ही झूठा लागे सच कही छुप कर बैठा हैं शायद जो सबकी आवाजो से कुछ रुठा वो लागे । बढ़ रही बेमानिया, बुराई का अब क्या मैं कहू अन्याय देखती खामोशिया, बिन बोले अब कैसे मैं रहू ईमान कही डर कर बैंठा हैं […]

Read more

‘‘गूंज हैं-सब एक हो’’-सुधांशु शर्मा

251_Z1mtx2ws

मायने बदले-बदले, उतरी सी हुयी हैं शक्ले, इतने महंगे तेरे तेवर क्यों हैं? रिश्तो में हैं क्यो मिलावट, सर पे गुस्सा देता आहट, छत होकर भी सब बेघर क्यो हैं? इधर भी देखो जिधर भी देखो सब लड़े-भिड़े से जुदा, अब तो मानो तुम ये जानो क्या सोचेगा वरना खुदा? गूंज हैं रुठे दिलो को […]

Read more